Wednesday, November 25, 2020

चुकंदर खाने के फायदे और नुकसान – Beetroot Benefits and Side Effects in Hindi

चुकंदर का पूरा पौधा एवं इसका प्रत्‍येक हिस्‍सा खाने योग्‍य होता है। इसकी लोकप्रियता का एक कारण यह भी है कि इसे कई तरह से खाया जा सकता है। चुकंदर को कच्चा, भूनकर या उबालकर खा सकते हैं। इसका अचार भी बनाया जाता है। इसकी सब्जी बनाकर भी खा सकते हैं। इसके अलावा चुकंदर का जूस भी बहुत फायदेमंद होता है।

चुकंदर में विभिन्‍न पोषक तत्‍व और एंटीऑक्‍सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो शरीर के लिए अत्‍यधिक फायदेमंद साबित होते हैं। रोज़ाना चुकंदर खाने से ब्‍लड प्रेशर संतुलित होता है और कब्‍ज, कैंसर से सुरक्षा मिलती है। चुकंदर का सेवन लिवर को भी सुरक्षा प्रदान करता है। ये शरीर से विषाक्‍त पदार्थों को मूत्र मार्ग के ज़रिए बाहर निकालकर डिटॉक्सिफिकेशन (शरीर की सफाई) प्रक्रिया में भी मदद करता है।

Chukandar Meaning in English:

चुकंदर को इंग्लिश में बीटरूट (Beetroot) कहा जाता है।

Chukandar Meaning in Hindi:

चुकंदर को हिंदी में चुकंदर (Chukandar) कहा जाता है।

चुकंदर के बारे में तथ्‍य (Important Facts about Chukandar):

  • वानस्‍पतिक नाम: बीटा वल्‍गैरिस
  • कुल: अमारैन्‍थ
  • सामान्‍य नाम: बीटरूट 
  • संस्‍कृत नाम: पालङ्गशाकः
  • उपयोगी भाग: पत्तियां और जड़
  • भौगोलिक विवरण: चुकंदर मूल रूप से जर्मन या इटली से है और पूर्वोत्तर यूरोप में भी इसका जिक्र मिलता है। भारत में प्रमुख रूप से हरियाणा, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल और महाराष्‍ट्र में चुकंदर की खेती की जाती है।

चुकंदर स्वास्थ्य पोषक तत्व (Beetroot Health Nutrients) per 85g Serving:

चुकन्दर की सब्जी Chukandar Ki Sabzi (Fry Recipe):

आयरन, मिनरल्स और विटामिन से भरे चुकन्दर को सलाद के रूप में सभी खाते हैं. आइए आज हम पौष्टिक चुकन्दर की स्वादिष्ट सब्जी बनाएं. (और पढ़ें चुकंदर की सब्ज़ी कैसे बनायीं जाती है हिंदी में)

चुकंदर की तासीर ठंडी होती है। इसके अनेक फायदे के साथ नुकसान भी हैं। इसको रोज़ खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा है लेकिन इसको खाने से पहले इसके फायदे और नुकसान के बारे में जान लें साथ ही जिन लोगों को लगे कि उन्हें इससे एलर्जी(Elergy) होती है तो वे इसका सेवन कम कर दें।

चुकंदर को लेने का सही समय और इसके सेवन करने के तरीके कौन कौन से हैं (How to Eat Beetroot):

कच्ची सब्ज़ियों को खाने का कोई निर्धारित समय नहीं होता है। चुकंदर को भी किसी भी समय खाया जा सकता है।

चुकंदर खाने के कई अलग तरीके हो सकते हैं जैसे कि-

सलाद के तौर पर कच्चा
आप इसे कच्चा खा सकते हैं। इसे फांकों में काट ले और इस पर नीम्बू और नमक छिड़क कर इसके स्वाद का आनंद उठाएं। सलाद में इस्तेमाल होने वाली अन्य फल और सब्ज़ियों के साथ इसे मिलाकर खा भी सकते हैं। खाना खाते समय इसके सलाद का आनंद उठा सकते हैं।

चुकंदर का अचार
आप इसका मसालेदार अचार बना सकते हैं। ये आमतौर पर केरला में बनता है। इसका आचार काफी स्वादिष्ट होता है।

उबालकर खाएं
आप इसे उबाकलर भी खा सकते हैं। लगभग 25 से 30 मिनट तक उबालें जब तक इसकी परत आसानी से न छुटाई जा सके। उबलने के बाद इन्हें ठंडे पानी में डाल दें और फिर इसकी परत निकालकर इसको खाया जा सकता है।

मीठे के तौर पर
आप इसका इस्तेमाल मीठे में भी कर सकते हैं। भारत में इससे मिठाई, हलवा और लडडू बनाये जाते हैं जो खाने में काफी स्वादिष्ट होते हैं।

Chukandar Ke Fayde (Beetroots Benefits in Hindi):

1. बेदाग निखार पाने के लिए (Chukandar Benefits for Face in Hindi)

आपकी फ्लॉलेस(Flowless) स्किन की चाहत चुकंदर का जूस बहुत ही आसानी से पूरा कर सकता है। इसमें विटामिन A,C,K होता है। ये आपकी बॉडी की आयरन(Iron), कॉपर(Copper) और पोटेशियम(Potassium) की जरूरत पूरी करता है। इससे आपकी स्किन हैल्थी और ग्लोइंग बनती है।

चुकंदर उबाल लें और उसे कुचले, फिर उसे अपने पूरे चेहरे और गर्दन पर लगाएं। 30 मिनट तक उसे लगाकर रखें और फिर ठंडे पानी से धोलें। यदि नियमित रूप से उपयोग किया जाए तो इससे आपके चेहरे पर गुलाबी चमक देखने को मिलेगी।

2. चुकंदर का प्रयोग गर्भावस्था के दौरान (Chukandar Benefits in Pregnancy in Hindi)

इसमें मौजूद मैंग्नीज, पोटैशियम, विटामिन- सी, फॉस्फोरस, कॉपर और आयरन भी प्रचुर मात्रा होती है। ये सारे तत्व गर्भावस्था में हीमोग्लोबिन(Hemoglobin) का स्तर बनाये रखने और मां व बच्चे को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। चुकंदर फॉलिक एसिड का भी बड़ा स्रोत है, जो बच्चे में न्यूरल ट्यूब दोष को रोकने में मदद करता है।

महिलाओं के लिए यही काफी फायदेमंद होता है लेकिन गर्भावस्था के दौरान, यह और भी आवश्यक है। यह खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद करता है। इसलिए, एक गर्भवती महिला को शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ाने के लिए चुकंदर का रस पीने की सलाह दी जाती है। गर्भावस्था के दौरान चुकंदर का रस महिला में एनीमिया विकसित होने से रोकता है।

चुकन्दर में प्रचुर मात्रा में फोलिक एसिड होता है। यह पोषक तत्व गर्भवती महिलाओं और उनके गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए महत्वपूर्ण होता है। चुकन्दर के सेवन से गर्भ में पल रहे बच्चे के रीढ़ की हड्डी (spinal cord) के निर्माण में मदद मिलती है। चुकन्दर का सेवन गर्भवती महिलाओं को अतिरिक्त ऊर्जा प्रदान करता है।

3. चुकंदर के गुण यौन स्वास्थ्य के लिए (Chukandar Benefits for Erectile Disfunction)

पुरुषों के लिए चुकुन्दर बहुत फायदेमंद है अगर आपके अंदर इरेक्‍टाइल डिस्‍फंक्‍शन जैसे समस्या है तो यह आपके बहुत काम आ सकता है। साथ ही यह सेक्‍स स्‍टेमिना में बढ़ोतरी भी करता है। चुकंदर में पाये जाने वाले नाइट्रेट तथा फाइबर का शरीर पर एक अलग ही प्रभाव पड़ता है। चुकंदर खासकर उन पुरुषों के लिए वरदान है जो इरेक्‍टाइल डिस्‍फंक्‍शन के शिकार हैं, वे अपनी खाने की प्‍लेट में चुकंदर को शामिल करें और इसके फायदे देखें।

4. ऊर्जावान बनाने में सहायक (Beetroot Advantages for Energy)

चुकंदर के सेवन से शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं और ऊर्जा के विकास में मदद मिलती है। यह आंतों में कैंडिडा को पनपने से रोकता है, जो ऊर्जा के स्तर को कम करने का काम करता है। शरीर में ऊर्जा के लिए लीवर का सही काम करना बेहद जरूरी है। ऐसे में चुकंदर एक बेहतरीन स्रोत है, चूंकि इसमें फ्लेवोनॉइड, सल्फर और बीटा कैरोटीन भी होते हैं, जो लीवर को सुचारु रूप से चलाने में खूब मदद करते हैं।

एक्ससरसाइज करने से पहले चुकंदर का रस पीने से एक्ससरसाइज करने में और मांसपेशियों के प्रदर्शन में सुधार होता है। वैज्ञानिकों का मानना है कि यह खोज न केवल एथलीटों बल्कि बुजुर्ग लोगों और पाचन, श्वसन या कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों से ग्रसित लोगों के लिए भी फायदेमंद है ।

चुकंदर में मोजूद कार्बोहाइड्रेट शरीर की एनर्जी को बढ़ाता है और खसरा बुखार जैसी बीमारियों को ठीक करता है। इसके लिए चुकंदर को पानी में उबालकर फिर उस को छान लें अब उस पानी को पीजिए। इस से आप को इन समस्याओं में आराम मिलेगा।

5. चुकंदर के फायदे हार्ट के लिए (Beetroot Benefits for Heart Patients)

चुकंदर के फायदे जान कर आपको हैरानी होगी, इसमें मौजूद नाइट्रेट तत्व रक्तचाप को सामान्य कर हृदय रोगों से बचाते हैं। यह आपको मायोकार्डियल संक्रमण से भी बचाता है। चुकंदर में मौजूद एंटी ऑक्सिडेंट गुण स्ट्रेस और हृदय रोग से जुड़े इंफ्लेमेशन को कम करने का भी काम करते हैं। इसमें मौजूद जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स हृदय को स्वस्थ रखते हैं। दिल के रोगों से बचने के लिए आप चुकंदर का सेवन हर दिन कर सकते हैं।

चुकन्दर में पाए जाने वाला नाइट्रेट (nitrate) नामक रसायन रक्त के दबाव को कम करता है और इसमें मौजूद ब्यूटेन (butane) नामक तत्व रक्त को जमने से रोकता है। इस तरह चुकन्दर दिल से संबंधित बीमारियों को दूर करने में मदद करता है। चुकंदर का जूस पीने से हाइपरटेंशन और हार्ट अटैक जैसी बीमारियां दूर होती हैं। इसके साथ-साथ चुकंदर का रस रक्त संचार में भी मदद करता है।

6. चुकंदर के फायदे मासिक धर्म में (Beetroot Benefits in Periods)

चुकंदर में नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा अधिक होती है। यह तत्व पुरुषों में सेक्स स्टैमिना बढ़ाने का काम करता है। आमतौर पर पुरुषों में कमजोरी और स्तंभन दोष महसूस होता है, चुकंदर का रस इन समस्याओं को कम करता है ।
चुकंदर में पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इससे हमारे शरीर की नसें और मांसपेशियां बेहतर तरीके से काम करती हैं। यदि आपके शरीर में पोटेशियम की कमी के कारण थका हुआ और कमजोर महसूस करते हैं। तो चुकंदर के जूस का सेवन आपको नई ऊर्जा देगा।
कम कामेच्छा और कम सेक्स पावर की इस समस्या से राहत पाने के लिए आप चुकंदर का सेवन कर सकते हैं। हैरान न हों, कई अध्ययनों और शोधों में यह साबित हो चुका है कि चुकंदर एक ऐसी सब्जी है जो यौन स्वास्थ्य को बढ़ाती है।

भारत में, जहां अधिकांश लड़कियां अपनी प्रजनन अवस्था में लौह की कमी वाले एनीमिया से पीड़ित हैं, ऐसे में पीरियड्स के दौरान रक्त खोने से लड़कियाँ अधिक कमजोरी,अनियमित और तेज़ धड़कन और सांस की तकलीफ महसूस करती हैं। चुकंदर लोहे से समृद्ध होने के कारण शरीर में हीमोग्लोबिन उत्पन्न करने में मदद करता है।

मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को अनेकों तरह की समस्याएं होती हैं। चुकंदर में मौजूद तत्वों के कारण इस के नियमित सेवन से मासिक धर्म के दौरान होने वाला कष्ट नहीं होता। मासिक धर्म खुल कर आता है। मासिक धर्म के दौरान होने वाली सुस्ती भी दूर रहती है।

7. चुकंदर के फायदे स्किन के लिए (Beetroot Benefits for Skin in Hindi)

चुकंदर आपके चेहरे पर झुर्री और धारियों को कम करने में मदद करता है। आपको अपने चेहरे पर पिगमेंटेशन (असामन्य रंग के धब्बे) देखने को मिल सकते हैं जो वास्तव में अजीब दिखता है। चुकंदर की मदद से त्वचा पर अतिरिक्त पिग्मेंटेशन को हटाने में मदद मिलती है।

चुकंदर फोलेट(Folate) और फाइबर का एक अच्छा स्रोत है जो त्वचा से अशुद्धियां और गंदगी को हटाने में मदद करता है। चमकदार त्वचा पाने के लिए आप अपने चेहरे पर चुकंदर स्लाइस लगा सकते हैं।

चुकंदर आपके चेहरे पर पिम्पल्स और काले धब्बे का इलाज कर सकता है। डार्क सर्कल्स से छुटकारा पाने के लिए भी चुकंदर का इस्तेमाल किया जाता है। यह आपकी त्वचा पर रक्त संचार को भी बढ़ाता है।

चुकंदर की तासीर ठंडी होती है इसलिए चुकंदर का रस त्वचा के कील मुंहासे और फोड़े फुंसी से निजाद दिलाने में मदद करता है।

8. बीट खाने के फायदे पेट से संबंधित में (Beetroot and Constipation)

चुकंदर में बीटाइन(Beatine) बड़ी मात्रा में मौजूद होता है। बीटाइन अच्छे पाचन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है।
ये पेट में होने वाले एसिड के स्तर को बढ़ाकर पाचन में सुधार करता है जिससे पेट नहीं फूलता है, आपको हर तरह का खाना पचने में मदद मिलती है, साथ ही ईस्ट और बैक्टीरिया(Bacteria) के विकास को नियंत्रित करता है।

चुकन्दर में अच्छी मात्रा में फाइबर(Fibre) पाया जाता है। चुकंदर का प्रयोग पेट से संबंधित बीमारियों जैसे कब्ज(Constipation) और बवासीर(Piles) के लिए फायदेमंद होता है। इसके लिए आप को रोजाना रात को सोने से पहले एक गिलास चुकंदर का रस पीना चाहिए। चुकंदर शरीर में भोजन के पाचन में भी मदद करता है.

8. चुकंदर के लाभ मधुमेह रोग में (Beetroot Good for Diabetes)

यदि आपको मधुमेह हैं, तो चकुंदर आपके आहार में शामिल होने वाली सबसे अच्छी चीजों में से एक है। आप इसे कच्चे रूप में या उबालकर या फिर सलाद के तौर पर लें।

यह धीरे-धीरे शुगर को रक्त में छोड़ देता है, जिससे ब्लड शुगर का स्तर कम बना रहता है।

एक और तथ्य यह है कि इस विशेष सब्जी में कम कैलोरी होती है और यहां तक कि यह शरीर पर अतिरिक्त फैट को इक्क्ठे होने से रोकने में मदद करते हैं।

9. चुकन्दर के लाभ दिमाग़ के लिए (Chukandar Benefits for Brain)

अधिक उम्र के लोगों के मस्तिष्क में ऑक्सीजन का प्रवाह कम हो जाता है। चुकंदर को उच्च नाइट्रेट आहार के रूप में उपभोग करने से मस्तिष्क में रक्त प्रवाह बढ़ सकता है, क्योंकि नाइट्राइट्स के कारण रक्त वाहिकाओं की चौड़ाई बढ़ती है और ऑक्सीजन की कमी वाली जगहों में रक्त और ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ जाता है।

चुकंदर का उपयोग हमारे दिमाग़ में ऑक्सीजन के प्रवाह को बनाए रखता है जिससे दिमाग़ में रक्त का संचार सुचारू रूप से होता है।

चुकंदर में कोलीन (Choline) नामक पोषक तत्व होता है जो हमारी याद रखने की क्षमता को बढ़ाता है और याददाश्त को तेज रखने में मदद करता है। इससे पागलपन के दौरे को भी ख़त्म करने में भी मदद मिलती है।

बीटरूट डैंड्रफ को हटाने में मदद करता है (Beetroot Benefits for Hair)

चुकंदर की मदद से डैंड्रफ और सिर की खुजली को खत्म किया जा सकता है। बीट में मौजूद सिलिका खोपड़ी को मॉइस्चराइज करती है और आपके बालों को नरम और चमकदार बनाए रखती है। चुकंदर के रस के साथ सिरका मिलाएं और उसे अपने बालों में लगा लें।

त्वचा को साफ़ और गोरा करने के लिए चुकंदर और नारंगी का रस (Beetroot Benefits for Skin)
नारंगी के रस के साथ चुकंदर का रस मिलाएं और अपनी त्वचा पर लगाएं। यह प्राकृतिक उपचार आपकी त्वचा को कोमल करेगा और गोरी बनाएगा। लौह में समृद्ध होने की वजह से, चुकंदर आपकी त्वचा के छिद्रों तक लोहा पहुंचाता है जिससे आपकी त्वचा का पीलापन दूर हो जाता है।

दलिया और चुकंदर का फेस मास्क ( Beetroot Face Mask Benefits)

चुकंदर के कुछ स्लाइसों के साथ दलिया के 2 चम्मच पीसें और फिर 10 मिनट के लिए अपने चेहरे पर इस मिश्रण को लगाकर रखें। फिर उस मास्क को धीरे-धीरे छुटा दें। इससे आपकी त्वचा खिल उठेगी

चुकंदर जूस रेसिपी इन हिंदी (Chukandar Juice Recipe in Hindi)

इस जूस को बनाने के लिए आपको चाहिए

2 चुकंदर

4 गाजर

1 नींबू

थोड़ा सा नमक

आइस

चुकंदर और गाजर को धोकर-छीलकर अच्छी छोटे टुकड़ों में काट लें। अब जूसर में डालकर ब्लैंड करें। चाहें तो टेस्ट के अकॉर्डिंग चीनी भी डाल सकती हैं। तैयार जूस में नींबू और नमक मिक्स करें और आइस मिलाकर सर्व करें। एक बात हमेशा याद रखें कि चुकंदर का जूस हमेशा किसी अन्य सब्जी या फल जैसे गाजर, सेब, अनार आदि के जूस में मिलाकर ही लें। केवल चुकंदर का जूस पीने से वोकल कोर्ड में थोड़े समय के लिए ही सही, दिक्कत हो सकती है।

चुकंदर जूस को पीने के फायदे ( Chukandar Juice Benefits in Hindi)

  1. एनीमिया की शिकायत (Chukandar Juice for Anemia) :

एनीमिया की बीमारी को दूर करने के लिए चुकंदर का इस्तेमाल सबसे ज्यादा (beetroot benefits) लाभदायक है. चुकंदर में पर्याप्त मात्रा में आयरन, विटामिन और मिनरल्स होते हैं, जो खून को बढ़ाने और उसे साफ करने का काम करते हैं. महिलाओं को खून की कमी ज्यादा होती है. इसलिए महिलाओं को डाइट में चुकंदर जरुर लेना चाहिए |

  1. कब्ज से राहत और वजन भी करे कम (Chukandar Juice for Weight Loss)

चुकंदर में फाइबर होता है इसलिए यह कब्ज को दूर करने के लिए दवाई का काम करता है. यह कब्ज को दूर करने के लिए सबसे अच्छा उपाय है. इससे खाना भी जल्दी पच जाता है. चुकंदर में कैलोरी काफी कम होती है और एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर अधिक होता है जिससे आप आसानी से अपना (Beetroot for Weight Loss) वज़न कम कर सकते हैं |

  1. ब्लड शुगर लेवल कम करे (Chukandar Juice Benefits in Blood Pressure):

चुकन्दर नाइट्रेट्स (nitrates) का एक अच्छा स्रोत है, इसका सेवन किए जाने पर ये नाइट्राइट्स (nitrites) और एक गैस नाइट्रिक ऑक्साइड्स (nitric oxides) में बदल जाता है। ये दोनों तत्व धमनियों को चौड़ा करने और ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। शोधकर्ताओं ने ये भी पाया है कि हर रोज़ 500 ग्राम चुकन्दर खाने से लगभग 6 घंटे में व्यक्ति का ब्लड प्रेशर घट जाता है।

  1. ख़राब कोलेस्ट्रॉल कम करे (Chukandar Juice Reduces Bad Cholesterol):

चुकन्दर में काफी मात्रा में फाइबर, फ्लेवेनॉइड्स (flavanoids) और बेटासायनिन(betacyanin) होता है। बेटासायनिन की वजह से ही चुकन्दर का रंग लाल-बैंगनी होता है। यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है। यह एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का ऑक्सीकरण कम करने में मदद करता है जिसकी वजह से यह धमनियों में नहीं जमता। इससे दिल के दौरे का जोखिम कम हो जाता है।

  1. गर्भवती महिलाओं और भ्रूण के लिए फायदेमंद (Chukandar Juice ke Fayde Pregnancy me):

चुकन्दर में उच्च मात्रा में फॉलिक एसिड पाया जाता है। यह पोषक तत्व गर्भवती महिलाओं और उनके अजन्म बच्चों के लिए महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इससे अजन्म बच्चे का मेरुदंड बनने में मदद मिलती है। चुकन्दर गर्भवती महिलाओं को अतिरिक्त ऊर्जा देता है।

  1. यह लिवर को डिटॉक्स करता है (Chukandar Juice Detoxes Liver):

चुकंदर में बीटाइन होता है जो लिवर की कार्यक्षमता को शानदार तरीके से बढ़ाता है। यह शरीर में मुख्य निस्पंदन प्रणाली को ध्यान में रखते हुए, यकृत रोग के परिणामस्वरूप जिगर को विषाक्त पदार्थों से तौला जा सकता है। जैसे, चुकंदर का रस लेने से इस तरह के परिदृश्य को रोकने के लिए एक लंबा रास्ता तय करना होगा क्योंकि बीट एंटीऑक्सिडेंट, बी विटामिन, कैल्शियम, लोहा और बीटािन से भरे होते हैं।

  1. यह कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करता है (Chukandar Juice Benefits in Cancer):

चूंकि यह एक एंटीऑक्सिडेंट है, बीट का रस कैंसर से कई तरह से रोकने में मदद कर सकता है। सबसे पहले, विटामिन सी और सुपारी शरीर से कैंसर पैदा करने वाले मुक्त कणों को मिटा सकते हैं और इस प्रकार अणुओं में इलेक्ट्रॉनों को बनाए रखने में मदद करते हैं। यह डीएनए और अणु की क्षति से बचाता है।

  1. त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ाता है (Chukandar Juice Benefits for Skin):

चुकंदर का रस एक अद्भुत एंटी-एजिंग उपाय है और इसे नियमित रूप से पीने से आपको विशेष रूप से फोलेट के स्तर के कारण बहुत मदद मिलेगी। यह त्वचा की समस्याओं और झुर्रियों से लड़ने में मदद करता है, वहीं त्वचा के नवीनीकरण की दिशा में काम करता है। रोजाना चुकंदर का जूस पीने से आपको स्वस्थ, कांतिमय त्वचा मिलेगी।

  1. सहनशक्ति को बढ़ाता है (Chukandar Juice Benefits Enhances Endurance):

हर दिन एक गिलास चुकंदर का रस लेने से आपकी सहनशक्ति को बढ़ाने में बहुत मदद मिल सकती है। नाइट्रिक ऑक्साइड में परिवर्तित होने पर एक ही नाइट्रेट, व्यायाम और शारीरिक गतिविधियों के दौरान ऑक्सीजन के ऊपर को कम करने में मदद करता है जिससे उन्हें कम निकास मिलता है। चुकंदर के रस के नियमित उपयोग से आपको अधिक ऊर्जा और कसरत के साथ दिन का सामना करने में बहुत मदद मिलेगी ।

  1. बेहतर रक्त प्रवाह (Chukandar Juice Benefits in Better Blood Flow):

चुकंदर के रस में नाइट्रेट के रूप में जाने वाले प्राकृतिक रसायनों की उच्च मात्रा होती है। एक श्रृंखला प्रतिक्रिया के माध्यम से, इन यौगिकों को नाइट्रिक ऑक्साइड में बदल दिया जाता है जो प्रवाह के संदर्भ में रक्त के संचलन में मदद करता है। जैसे, मस्तिष्क सहित आपके शरीर का हर अंग इष्टतम रक्त परिसंचरण का आनंद ले सकता है, जिसका अर्थ है कि शरीर को अधिक ऑक्सीजन वितरित की जाती है।

  1. बवासीर की समस्या को दूर करने में (Chukandar Juice Benefits to Reduce the Problem of Hemorrhoids):

बवासीर के मरीजों को रात में सोने से पहले थोड़ा चुकंदर का रस पीकर सोना चाहिए। इससे उनके शौच की समस्या से छुटकारा मिलेगा। क्योंकि चुकंदर के रस में कुछ ऐसे एंजाइम होते है। जो कब्ज की समस्या होने नहीं देते है। मल आसानी से मलद्वार से निकल जाती है। इससे बवासीर की समस्या कम होने लगती है।

  1. बालो को झड़ने की समस्या को कम करें (Chukandar Juice Benefits in Hair Fall):

बालो को झड़ने से रोकने का सबसे बेहतरीन उपाय है। चुकंदर के रस का सेवन करना चाहिए ,इसमें मौजूद विटामिन सी बालो के लिए अधिक लाभदायक होता है। यह बालो की जड़ो को मजबूत करता है। इससे बालो के टूटने की संभावना कम हो जाती है। आपके बाल घने और सूंदर लगने लगते है।

  1. चुकंदर का सेवन यौवन शक्ति के लिए (Chukandar Juice 🥤 Good For Sex Power):

पुरुषों में लो लिबिडो और लो सेक्स स्टैमिना की समस्या उनके जीवन को कई तरह से प्रभावित करती है। क्योंकि, यह उनकी सेक्स लाइफ को प्रभावित करता है। जिसके कारण उनका आत्मविश्वास कम हो जाता है, पुरुष तनाव महसूस करते हैं और उनका मानसिक स्वास्थ्य भी बिगड़ जाता है।

चुकंदर में नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा अधिक होती है। यह तत्व पुरुषों में सेक्स स्टैमिना बढ़ाने का काम करता है। आमतौर पर पुरुषों में कमजोरी और स्तंभन दोष महसूस होता है, चुकंदर का रस इन समस्याओं को कम करता है ।

चुकंदर में पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इससे हमारे शरीर की नसें और मांसपेशियां बेहतर तरीके से काम करती हैं। यदि आपके शरीर में पोटेशियम की कमी के कारण थका हुआ और कमजोर महसूस करते हैं। तो चुकंदर के जूस का सेवन आपको नई ऊर्जा देगा।

कम कामेच्छा और कम सेक्स पावर की इस समस्या से राहत पाने के लिए आप चुकंदर का सेवन कर सकते हैं। हैरान न हों, कई अध्ययनों और शोधों में यह साबित हो चुका है कि चुकंदर एक ऐसी सब्जी है जो यौन स्वास्थ्य को बढ़ाती है।

चुकंदर के अन्य फायदे इस प्रकार हैं –

  • गाल गुलाबी बनाने के लिए चुकंदर का रस – चुकंदर काटकर उसका रस निकाल लें। फिर अपने गालों पर यह मिश्रण थपथपाकर लगाएं।
  • त्वचा को साफ़ और गोरा करने के लिए चुकंदर और नारंगी का रस – नारंगी के रस के साथ चुकंदर का रस मिलाएं और अपनी त्वचा पर लगाएं। यह प्राकृतिक उपचार आपकी त्वचा को कोमल करेगा और गोरी बनाएगा। लौह में समृद्ध होने की वजह से, चुकंदर आपकी त्वचा के छिद्रों तक लोहा पहुंचाता है जिससे आपकी त्वचा का पीलापन दूर हो जाता है।
  • चुकंदर में मौजूद बीटन (beaten) नामक तत्व शरीर में फोड़ा बनने से रोकता है।
  • चुकंदर का रस पेट में पथरी बनने से रोकता है और पेशाब में होने वाली जलन को भी कम करता है।
  • चुकंदर का उपयोग जिम जाने वाले लोगों के शरीर में एनर्जी को बनाए रखने में मदद करता है।
  • शोधों से पता चला है कि जिन व्यक्तियों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है, वह एक गिलास चुकंदर का रस पीलें तो एक घंटे के अंदर ही उच्च रक्तचाप को नियंत्रण में कर सकते हैं।

चुकंदर के नुकसान इस प्रकार हैं (Chukandar Ke Nuksan Hindi Me):

जैसे चुकंदर खाने के फायदे हैं वैसे ही इसे अधिक मात्रा में खाने से नुकसान भी हो सकते हैं।

  • चुकंदर में आयरन और कॉपर भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए हेमोक्रोमैटोसिस (Hemocromatosis) के रोगी को इसके सेवन से बचना चाहिए।
  • जो कम रक्तचाप की समस्या से परेशान हैं उन्हें चुकंदर का सेवन कम कर देना चाहिए।
  • चुकंदर अधिक मात्रा में खाने से मतली और डायरिया की समस्‍या हो सकती है।
  • किडनी की बीमारियों से पीड़ित लोगों को चुकंदर की अधिक मात्रा लेने से बचना चाहिए।
  • इससे टीम्यूरिया नामक बीमारी होने का भी खतरा रहता है जिसमे पीड़ित का यूरिन गुलाबी रंग का हो जाता है।
  • चुकंदर खाने से कुछ लोगों को एलर्जी हो सकती है जिससे पित्ती, खुजली, बुखार, ठंड लगना जैसी बीमरियां हो सकती हैं। साथ ही गले की समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है।
  • चुकंदर लेने से पहले इस बात का ध्यान रखें की इसे लेने से आपके खून में शुगर का स्तर बढ़ सकता है।
  • चुकंदर से गाउट नामक बीमारी होने का खतरा रहता है जिससे जोड़े सुरक लाल रंग के दिखते हैं और तेज़ बुखार भी हो सकता है।
  • चुकंदर लोहे, मैग्नीशियम, तांबे, और फॉस्फोरस से समृद्ध हैं जो कि इसकी एक अच्छी बात है। लेकिन इसकी बुरी बात यह है की ये सारे धातु हैं, और इनका अत्यधिक सेवन करने से ये लिवर पर इकट्ठे हो सकते हैं। जिससे लिवर और पैनक्रियाज़ को नुकसान पहुंच सकता है।

अगर आपको ऊपर लिखी किसी समस्या के लक्षण दिखते हैं तो चुकंदर का सेवन करना बंद कर दें।

Rakesh Varmahttps://www.varmajitips.com
Hello Friends, I'am Rakesh Varma.. Admin of Varmajitips.com, Mujhe Logo ko Health, Technology, Fitness, etc Topic pe Tips Dena accha lagta hai or is website par me logo ko hindi me jankari deta hu..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

टॉपिक चुने