Home ऑनलाइन पैसा कमाएँ ब्लॉगिंग Happy Life जीने के 10 कुछ खास मूलमंत्र - Best 10 Mantra...

Happy Life जीने के 10 कुछ खास मूलमंत्र – Best 10 Mantra to live Happy Life in Hindi

- Advertisement -

Happy Life जीने के कुछ खास मूलमंत्र ऐसे लोगो (People) की कमी नहीं है जो मानते है कि जिन्दगी (life) को सही से और ख़ुशी (with happiness) से जीने के लिए बस बहुत सारा पैसा (money) होना चाहिए लेकिन आपको बता दूँ ऐसा कुछ भी नहीं है क्योंकि ऐसे बहुत सारे लोग है जिनके पास दुनिया भर का पैसा है लेकिन जिदंगी (life) सही मायने में उनके पास भी नहीं है. क्योंकि हो सकता है पैसे से आपको अपनी जरुरत की चीज़ को खरीदने के लिए उतनी मशक्कत नहीं करनी पड़े जितनी आम लोग करते है लेकिन फिर भी खुशिया दूर दूर तक जिन्दगी (life) में होती नहीं है क्योंकि इसके लिए तो आदमी को थोडा हटकर अपने लिए सोचना होता है और कुछ नयापन जिन्दगी में लाना होता है तभी आप सही से खुशिया अपने लिए कर पाते है. ऐसे बहुत सारे लोग है जो अच्छे मकान (well furnished house) में रहते है पहनने को अच्छे कपडे है और बहुत सारे दोस्त (friends) भी उनके होते है लेकिन क्या है काफी होता है ? जवाब है नहीं. हम आपको एक चीज़ और भी बता दें कि देखा गया है कि खुश रहने वाले लोगो की तुलना में वो लोग ज्यादा पैसे खर्च करते है जो खुश नहीं रहते है इसलिए आप ये भी जान लें कि पैसा (money) एकमात्र ऐसी चीज़ नहीं है जिस से life में ख़ुशी लायी जा सकती है तो चलिए हम बात कर रहे है कुछ जरुरी उन चीजों की जिनके जरिये आप जिन्दगी में थोड़ी ज्यादा खुशियाँ (more happiness) प्राप्त कर सकते है.

  • मुसाफिर बने / Be a traveller
  • कला प्रेमी बने / Be art lover
  • आस्था / faith in God
  • परिवार से जुडाव / attachment with family
  • साहित्य / literature
  • संगीत / Music
  • आनंद / Joy
  • सवेंदनशील बने / be sensitive
  • काम / work balance
  • खेलकूद / Sports

मुसाफिर बने / Be a traveller : हालाँकि शहर में रहने वाले लोगो से वो लोग ज्यादा खुश रहते है जो गांवों में रहते है जानते है क्यों क्योंकि वो लोग शहर वाले लोगो की तुलना में थोडा अधिक खुली हवा में साँस ले पाते है जबकि शहर में रहने वाले लोग काम के दौरान और काम के बाद भी अपनी चारदीवारी में घिरे रहते है और चूँकि जिन्दगी (Life) का ताना बाना हमारी प्रकृति के आस पास बुना हुआ है इसलिए स्वस्थ (healthy) रहने के लिए जरुरी है कभी-कभी और मैं तो कहूँगा अक्सर आप प्रकृति के नजदीक जाएँ और कभी-कभी बस यूँ ही पेड़ों पहाड़ो की खूबसूरती देखें किसी अच्छी जगह घूमने के लिए जाएँ और वंहा सितारों आसमान और पेड़ पौधों को निहारे यकीन मानिये आपकी जिन्दगी में बहुत कुछ नयापन होगा और आपको सच्ची वाली ख़ुशी का अनुभव होता है

कला प्रेमी बने / Be art lover : दुनिया भर में इतना सौन्दर्य (Beauty) है कि आप सोचे भी नहीं सकते लेकिन उस सौन्दर्य को देखने के लिए आँखों और नजरिये की जरुरत है और इसके लिए कला प्रेमी होना और कला (Art) की समझ होना जरुरी है इसलिए अपना मन कला में रमायें.
और उसमे अपनी ख़ुशी (Happiness) ढूंढे दुनिया भर के महान चित्रकार (painter) अपनी पेटिंग के जरिये इतना कुछ कह गये है कि अगर आपको कला (art) की समझ हो आप ऐसे कला के प्यासे हो जायेंगे जैसे आपको पानी की प्यास लगती है

आस्था / faith in God : अध्यात्म (Spirituality) बेशक विज्ञानं से थोडा हटके है लेकिन बुद्धिजीवी बनने के चक्कर में लोग अक्सर आत्मिक शक्ति (Spiritual Strength) और सुपर नेचुरल पॉवर (Supernatural power) को महसूस करते हुए भी नकार देते है लेकिन किसी चीज़ में आपकी आस्था (faith) आपके लिए सकारात्मक प्रभाव देती है इसलिए अगर संभव हो और आपको मन में किसी चीज़ के लिए आस्था (faith) हो तो बनाये रखे क्योंकि एकदम सिरे से नकार कर हो सकता है आप अपना ही नुकसान कर रहे हो.

परिवार से जुडाव / attachment with family : एक फिलोसोपी है कि जिन्दगी सही मायने में सच्चा अर्थ देने के लिए जरुरी है कि आपके लिए परिवार (family) पहले आना चाहिए और पैसे और काम बाद में
क्योंकि काम के बाद आप घर में ही आते है और अगर आपके परिवार (family) के साथ आपका आत्मिक जुडाव अच्छा है तो आपका परिवार ही आपके लिए ख़ुशी और उर्जा का नया स्त्रोत बन जाता है खासकर परिवार के बच्चे (children) आपके लिए उर्जा (energy) काएक नया जरिया (source) होते है और आपको बहुत ख़ुशी (happiness) देते है इसलिए बच्चो के साथ मन से जुड़े

साहित्य / literature : साहित्य और किताबे (books) न केवल इतिहास और भविष्य के बारे में योजना है बल्कि साथ ही महान लोगो की जिनदगी के अनुभवों (experience) का एक संग्रह होता है जिसे पढ़कर हम लोगो के जीवन के बारे में नजरिये जान सकते है और थोड़े समय में वो अनुभवों जान सकते है.
जो उन्होंने अपनी जिन्दगी में कई सालों की मेहनत के बाद हासिल किया इसलिए सच्ची वाली ख़ुशी (real happiness) को प्राप्त करने के लिए आप साहित्य (literature) में अपनी रूचि जगाये और लोगो को पढ़े इस से आपको प्रेरणा भी मिलती है जीवन की तमाम तरह की समस्यायों के लिए.

संगीत / Music : संगीत जिन्दगी में ख़ुशी देने वाला एक बेहतरीन माध्यम (medium) होती है और मैं व्यक्तिगत (personally) तौर पर ये मानता हूँ कि जो लोग संगीत (music) और अन्य कलात्मक चीजों (artistic) में रूचि रखते है वो जिन्दगी को एक नये तरीके से देखते है.
और संगीत में रूचि रखने वाले लोग जिन्दगी की हर घटना को संगीत (music) से जोड़ देते है और हर पल में संगीत खोज लेते है और अगर आपको संगीत में रूचि नहीं है तो संगीत के बारे में अपनी जानकारी बढाईये और सीखने के लिए हर पल तैयार रहिये क्योंकि कुछ नया सीखने पर जो ख़ुशी मिलती है वो अतुलनीय (Matchless) होती है

आनंद / Joy : जिन्दगी को इसकी डिटेल (details) में जीना सीखे और हर छोटी बड़ी बात के लिए आनंद (Joy) खोजे अपने बिस्तर की सफाई और नरमी, लोगो से बात करते हुए ख़ुशी को महसूस करना और भोजन को खाते समय उसकी सुगंध और स्वाद में खो जाएँ. स्नान करने पर मिली शांति और ऑफिस से घर आते समय का वो सफ़र आप हर चीज़ में आनंद खोज सकते है
आपने कभी ध्यान नहीं दिया होगा लेकिन आपकी लिखावट और नये लोगो से मिलने और उनकी आदतें जानने में भी बहुत ख़ुशी और आनंद (happiness) छिपा होता है क्योंकि हमारा दिमाग हर उस चीज़ को बड़ी ख़ुशी के साथ सीखता है जो नई हो

सवेंदनशील बने / be sensitive : यह भी सबसे जरुरी हिस्सा है जहा आप कुछ चीजों को हल्के से लेना सीखते है वही आपको लोगो के लिए जो आपकी परवाह (care) करते है उनके लिए और जो नहीं करते उनके लिए भी दिल में एक सॉफ्ट कार्नर (soft corner) रखना जरुरी होता है
इसलिए लोगो के लिए संवेदनशील (sensitive) बने क्योंकि प्यार स्नेह ,मित्रता और रिश्ते बहुत सकूं देते है और ख़ुशी भी

काम / work balance : काम को बोझ मानकर नहीं चले क्योंकि एक पल के लिए सोचिये अगर आपके पास करने को कोई काम (work load) नहीं होता तो आप क्या करते जिन्दगी (life) के लिए कोई लक्ष्य (goal) नहीं होता और आप बिस्तर पर पड़े पड़े बस केवल बोर हो सकते थे. इसलिए जिन्दगी को चलते रहने के लिए इसमें कुछ मोमेंट (movement) होनी आवश्यक है. इसलिए जिन्दगी में काम के महत्व को समझिये और पूरे मन और आनंद के साथ अपने काम का मजा लीजिये

खेलकूद / Sports : खेलकूद चीज़े जरुरी है उतना ही जरुरी हमारा शरीर (Body) भी हमारे लिए है और जब तक आपका तन सही नहीं होगा आपको सच्ची वाली ख़ुशी (eternal happiness) कभी नहीं मिल सकती है इसलिए जरा अपने शरीर (Body) के बारे में सोचिये और खेलकूद (Sports) में भी ख़ुशी (Happiness) को तलाश करिए जन्हा खेल आपकी रूचि हो सकती है.
वही आपके लिए और आपकी सेहत के लिए भी यह कमाल का होता है. आप बोर हो रहे और या दुखी हो तो खेल में खुद को बिजी करके आप काफी कुछ उबर सकते है बुरे हालातों से और इस से आपका मनोबल भी मजबूत होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

टॉपिक चुने