Tuesday, November 24, 2020

करौंदा (क्रैनबेरी) के 10 फ़ायदे और नुकसान – Cranberry Benefits and Nutri Facts in Hindi

क्रैनबेरी (Cranberry) को हिंदी में करौंदा कहा जाता है। क्रैनबेरी का वैज्ञानिक नाम वैक्सीनियम मैक्रोकारन (Vaccinium macrocarpon) होता है। क्रैनबेरी को सबसे पहले उत्तर अमेरिका में उगाया गया था। क्रैनबेरी की झाड़ियां 2 मीटर (7 फीट) लंबी और 5 से 20 सेंटीमीटर (2 से 8 इंच) की ऊँचाई तक की होती है। क्रैनबेरी का फल आकर में बहुत छोटा होता है जो देखने में गहरे गुलाबी रंग का होता है और खाने में थोडा खट्टा – मीठा लगता है।

क्रैनबेरी के नूट्री फैक्ट्स – Cranberry Nutri Facts in Hindi

Nutritional Information for (per 1/2 cup. – 50g serving)

क्रैनबेरी संक्रमण को रोकता है – Cranberry Prevents Infection in Hindi

क्रैनबेरी में मौजूद काफी सारे नूट्रिएंट्स (Nutrients) और मिनरल्स होने के कारण हमारा इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होता है जिससे हम किसी भी संक्रमण आसानी से लड़ सकते हैं. इसलिए अगर आपको बिमारियों से दूर रहना है तो क्रैनबेरी का इस्तेमाल करना चाहिए. (और पढ़ें – संक्रमण से बचने के उपाए हिंदी में )

क्रैनबेरी के फायदे यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन के लिए – Cranberry for Urinary Tract Infections in Hindi

क्रैनबेरी में उच्च स्तर के एंटीऑक्सिडेंट प्रोएन्थोसाइनिडिन्स (PACS) कुछ बैक्टीरिया को मूत्र पथ की दीवारों का पालन करने से रोकने में मदद करता है।
करौंदा मूत्र मार्ग संक्रमण को रोकने के लिए बहुत ही अच्छा होता है। क्रैनबेरी में मौजूद प्रोएथोकेनिडिन (पीएसी) का उच्च स्तर मूत्र मार्ग की दीवारों में बैक्टीरिया को कम करने में मदद करता है। फरवरी 2016 में ऑब्सट्रेट्रिक्स और गायनोकॉलॉजी के अमेरिकन जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया है कि क्रैनबेरी कैप्सूल मूत्र पथ के संक्रमण को कम करने में मदद करता है।

क्रैनबेरी के लाभ रखें हृदय को स्वस्थ – Cranberry Benefits for Heart in Hindi

ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, दिन में एक गिलास क्रैनबेरी के रस का पीने से एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है (एचडीएल को “अच्छा” कोलेस्ट्रॉल भी कहा जाता है)।
क्रैनबेरी में मौजूद पोलीफेनॉल्स भी प्लेटलेट बिल्ड-अप को रोकने और रक्तचाप को कम करने में मदद करते हैं जिससे हृदय रोग के खतरे को कम कर सकते हैं। अगर आप को हाई ब्लड प्रेशर रहता है तो आपको क्रैनबेरी के जूस का सेवन करना चाहिए.

कैंसर का इलाज करें करौंदा से – Cranberry Good for Cancer in Hindi

रिसर्च के अनुसार क्रैनबेरी ट्यूमर के बढ़ने को धीमा करने में फायदेमंद होते हैं और प्रोस्टेट कैंसर, लिवर कैंसर, स्तन कैंसर, ओवेरियन कैंसर (अंडाशय कैंसर) और कोलन कैंसर के खिलाफ सकारात्मक प्रभाव दिखाए हैं।

करौंदा का उपयोग रखें दांतों को स्वस्थ – Cranberry for Dental Health in Hindi

करौंदा में प्रोएंथोसायनिडिन पाया जाता है जो कि यूटीआई (मूत्र मार्ग संक्रमण) को रोकने में मदद करता है। रोचेस्टर मेडिकल सेंटर विश्वविद्यालय में ओरल बायोलॉजी और ईस्टमैन डिपार्टमेंट ऑफ दंत चिकित्सा संस्थान के शोधकर्ताओं के अनुसार, प्रोएंथोसायनिडिन जीवाणुओं को दांतों से दूर करने में मदद करता है जिससे दांतों या मौखिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं कम हो जाती है। इसलिए क्रैनबेरी भी मसूड़ों के रोगों को रोकने में फायदेमंद हो सकता है।

क्रैनबेरी फल है मस्तिष्क के लिए अच्छा – Cranberry Good for Brain in Hindi

टफट्स यूनिवर्सिटी के अनुसार क्रैनबेरी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और सूजन को कम करने वाले यौगिक स्मृति और समन्वय (coordination) में सुधार हो सकता है। इसलिए अगर आप अपनी मेमोरी को तेज करना चाहते हैं तो आज से ही क्रैनबेरी का सेवन शुरू कर दीजिये।

क्रैनबेरी फॉर वेट लॉस – Cranberry for Weight Loss in Hindi

क्रैनबेरी रस का शरीर में जमा फैट पर बहुत ही अच्छा प्रभाव पड़ता है जो वजन घटाने में लाभकारी होता है। चूंकि यह फाइबर के साथ भरा हुआ है, इसलिए इसके सेवन से आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगती है जिसका मतलब है कि आपका पेट लंबे समय तक भरा हुआ रहता है। (

करौंदा के गुण त्वचा को बेहतर रखने के लिए – Cranberry for Skin in Hindi

क्रैनबेरी त्वचा को पोषण देने में मदद करती है और त्वचा को अधिक कोमल बनाती है। आप एक चौथाई कप शहद में दो चम्मच ड्राई क्रैनबेरी और एक चौथाई चम्मच क्रैनबेरी तेल को मिक्स करें। और बेहतर परिणाम के लिए 10 मिनट के लिए इस मिश्रण को अपनी त्वचा पर लगाए और उसके बाद अच्छे से धो लें।

करौंदे के रस का सेवन रखें प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत – Cranberry for Immune System in Hindi

क्रैनबेरी एंटीऑक्सिडेंट्स और फाइटोकेमिकल्स में परिपूर्ण होते हैं, इसलिए क्रैनबेरी एक स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देते हैं और बीमार होने की बाधाओं को कम करते हैं।

करौंदा के नुकसान – Karonda ke Nuksan in Hindi

  1. चिकित्सीय कारणों के लिए क्रैनबेरी लेने की सुरक्षा के बारे में पर्याप्त विश्वसनीय जानकारी नहीं है। इसलिए यदि आप गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं तो बेहतर होगा कि आप इसके उपयोग से बचें।
  2. क्रैनबेरी में सॅलिसीलिक एसिड की बहुत अधिक मात्रा होती है। सॅलिसीलिक एसिड एस्पिरिन के समान होता है। यदि आपको एस्पिरिन से एलर्जी है तो क्रैनबेरी रस के सेवन से बचें।
  3. यदि आप को गुर्दे की पथरी की शिकायत हैं तो क्रैनबेरी निकालने वाले उत्पादों को लेने या बहुत अधिक क्रैनबेरी रस पीने से बचें।
  4. यदि आप गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं तो चिकित्सीय परामर्श के अनुसार क्रैनबेरी का सेवन करें.
Rakesh Varmahttps://www.varmajitips.com
Hello Friends, I'am Rakesh Varma.. Admin of Varmajitips.com, Mujhe Logo ko Health, Technology, Fitness, etc Topic pe Tips Dena accha lagta hai or is website par me logo ko hindi me jankari deta hu..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

टॉपिक चुने